News

15 साल की नाबालिग से 42 साल का दूल्हा आया तीसरी शादी करने, ग्रामीणों ने बनाया बंधक 



... PATNA : मधुबनी जिले के झंझारपुर आरएस के दीप गांव में रविवार की रात एक 15 साल की नाबालिग लड़की के साथ शादी रचाने आए दूल्हा समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक घोघरडीहा थाना के पिरोजगढ़ गांव निवासी 42 वर्षीय मोती अंसारी ने भाई और बहनोई के साथ शिविर थाना क्षेत्र के गांव आकर एक नाबालिग लड़की के साथ शादी रचा रहा था। इस बात की भनक ग्रामीण लोगों को हुई। ग्रामीणों ने इस बाल विवाह को रोक कर

पुलिस को सूचना देकर सभी को घेर कर रखा था। सब इंस्पेक्टर महेश प्रसाद सिंह ने घटना स्थल पर पहुंचकर हो रहे निकाह को रोका और मौका पर मौजूद दूल्हा मोती अंसारी, छोटा भाई आलम अंसारी और बहनोई नसीम अंसारी को हिरासत में लेकर थाना पर आ गई। 



  दीप गांव की घटना : नाबालिग की मां, मध्यस्थता करने वाला युवक और उसका बहनोई फरार, पुलिस ने लड़की की मां समेत 6 लोगों पर दर्ज किया मामला  बताया गया है कि मोती इससे पूर्व भी पहली शादी दीप गांव में ही हुई थी। दूसरा शादी अंधराठाढ़ी के जमैला गांव में की। वह भी पत्नी एक बच्चे को लेकर चली गई थी। अब तीसरा शादी रचाने आया तो पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने बाल विवाह अधिनियम की धारा के तहत इस मामले में छह लोगों पर एफआईआर

दर्ज की है। वहीं पुलिस अनय आरोपियों की तलाश कर रही है।   गरीबी का फायदा उठाना चाहता था दूल्हा मोती  घटना की जानकारी देते हुए थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान ने बताया कि नाबालिग का परिवार काफी गरीब है। इसी का फायदा मोती और उसके परिजन उठाना चाहते थे। मोती की पहली पत्नी की मौत हो चुकी है। वही उसकी दूसरी पत्नी किसी के साथ भाग गई है। वह यहां पर अपनी तीसरी शादी करने के लिए आथा था। पुलिस को युवती के बहनोई और मध्यस्थता करने वाले युवक और उसकी मां की तलाश में हैं।  पुलिस तीन की तलाश में कर रही छापेमारी  जिसमें तीन धराया और तीन फरार हो गया है। स्थानीय लोगों ने बाल विवाह के खिलाफ सरकार के जागरूकता अभियान का नतीजा बताया है। झंझारपुर पुलिस इंस्पेक्टर सनोवर खां

और आरएस शिविर थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान ने मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नाबालिग की मां और मध्यस्थता करने वाला, लड़की का बहनोई को पुलिस के आने की भनक लगते ही मौके से फरार हो गए। पुलिस उनकी तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है।  पहले तय की दहेजमुक्त शादी, अब मांग रहे बाइक व तीन लाख रुपए  हरलाखी| हरलाखी थाना क्षेत्र के पिपरौन गांव में पुलिस ने दहेज मांगने के आरोप में छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। लड़की की शादी सीतामढ़ी जिला के एक गांव में दहेज मुक्त तय हुई।  इसके बाद विधि विधान से तिलक का रस्म भी हुई। जब शादी का समय नजदीक आई तो दहेज के लिए लड़की पक्ष पर दबाव बनाए जाने लगा। जिसमें तीन लाख नकद व एक बाइक की मांग की जाने लगी। लड़की पक्ष

द्वारा लाख मनाने पर भी लड़का पक्ष मनाने को तैयार नहीं हो रहे थे। पीड़ित लड़की पक्ष को कानून का सहारा लेना पड़ा और प्राथमिकी दर्ज करानी पड़ी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।  17 अप्रैल को हुआ था तिलक  पिपरौन गांव निवासी लड़की के पिता गुलाब चंद्र महतो ने लड़की की शादी एक माह पूर्व सीतामढ़ी जिला के सत्यमच्चा गांव निवासी धर्मेन्द्र कुमार के पुत्र गुड्डू कुमार उर्फ दीपक से तय किया था। विवाह तय होने के कुछ दीन बाद 17 अप्रैल को लड़का पक्ष द्वारा पिपरौन गांव आकर हिंदू रीती रिवाज से लड़की को तिलक चढ़ाया गया। तिलक के बाद अचानक लड़का पक्ष की नीयत खराब हो गई। लड़की के पिता से तीन लाख रुपए नकद व बाइक की मांग करने लगे जो लड़की वालों के क्षमता से बाहर की बात थी। पिता ने लड़के वालों के

यहां जाकर अपनी गरीबी का हवाला दिया। 





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments