News

24 घंटे से बोरवेल में फंसा है मासूम, बचाव कार्य जारी, दोपहर तक बाहर निकालने का दावा



इंदौर।भाइयों के साथ खेत में खेलते खेलते 40 फीट गहरे बोरवेल में गिरे मासूम को 24 घंटे बाद भी बोर से बाहर नहीं निकाला जा सका है। शनिवार सुबह 11.30 बजे 40 फीट गहरे बोरवेल में गिरा चार साल का बच्चा बोरवेल में 27 फीट नीचे फंसा हुआ है। देवास के उमरिया गांव में घटी इस घटना को 24 घंटे हो गए है। बच्चे के बोरवेल में गिरने के बाद से ही प्रशासन की टीम बचाव कार्य में जुट गई थी लेकिन अब तक बचाव ऑपरेशन को पूरा नहीं किया जा सका है।

- बचाव कार्य में जुटी प्रशासन व सेना की टीम का कहना है कि कठोर पत्थर आने से खुदाई में समस्या आ रही है। हालांकि प्रशासन का दावा है कि अगले एक घंटे में बच्चे को बाहर निकाल लिया जाएगा। गौरतलब है कि शनिवार को 40 फीट गहरे बोर में चार साल का बच्चा खेलते-खेलते गिर गया था जो बोर में 27 फीट नीचे फंसा हुआ है।

- बचाव कार्य में कठोर पत्थरों द्वारा बाधा आ रही है। कठोर पत्थर आने से जेसीबी से खुदाई की गति काफी धीमी हो गई है। बचाव दल ने कंट्रोल ब्लाॅस्टिंग करने पत्थरों को हटाने की योजना तैयार की


थी लेकिन बाद में इस योजना को टाल दिया गया। फिलहाल तीन जेसीबी और तीन पोकलेन मशीनों के द्वारा बोरिंग के समानांतर गड्‌ढ़ा किया जा रहा है।

- बचाव दल का कहना है कि 27 फीट तक बोरिंग के समानांतर बड़ा गड्‌ढ़ा किया जाना है। इसके बार एक छोटी सुरंग बड़े गड्‌ढ़े से बोरिंग की तरफ बनाई जाएगी। इसी सुरंग के द्वारा बच्चे को बाहर निकाला जाएगा।

- मौके पर डॉक्टरों के साथ मेडिकल टीम भी उपस्थित है। बच्चे को लगातार पाइप के माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही है। बच्चे के पिता ने कहा कि वह प्रशासन द्वारा किए जा रहे बचाव कार्य से संतुष्ट है और उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही उसके बच्चे को बोरवेल से बाहर निकाल लिया जाएगा।

- खातेगांव क्षेत्र में इस प्रकार की पहली घटना होने से आसपास के गांवों के हजारों लोग भी मौके पर उपस्थित है। देवास कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी अंशुमान सिंह, क्षेत्रीय विधायक आशीष शर्मा, पूर्व विधायक कैलाश कुंडल, थाना प्रभारी तहजीब काजी, एसडीओपी शेरसिंह भूरिया और स्वास्थ्य विभाग की टीम सहित एसडीएम जीवन सिंह रजक, तहसीलदार दिनेश सोनी सहित प्रशासनिक अमला राहत कार्य में जुटा है।

- बोर में गिरा बच्चा कांजीपुरा निवासी रोशन पिता भीमसिंह कोरकू है। रोशन की मां रेखा ने बताया कि वह शनिवार सुबह अपने तीन बच्चे नैतिक, रोशन और चेतन को लेकर उमरिया आई थी। यहां वह बच्चों को पेड़ के नीचे खेलने का कहकर खेत पर काम करने लगी। जिस खेत में वह काम कर रही थी, हीरालाल का खेत भी उससे लगा हुआ है। बच्चे खेलते हुए हीरालाल के खेत में मौजूद बोरिंग के पास पहुंच गए। बाेरिंग सूखा और खुला हुआ था।

- करीब साढ़े 11 बजे खेलते-खेलते रोशन बोरिंग में जा गिरा। बोरिंग में बच्चे के गिरते ही दोनों भाई चिल्लाते हुए मां के पास पहुंचे। इसके बाद मां और अन्य लोग बोरिंग के पास पहुंचे और बच्चे को देखने की कोशिश करने लगे। कुछ लोगों ने तत्काल खातेगांव पुलिस को सूचना दी। सूचना के बाद विधायक आशीष शर्मा, कन्नौद एसडीओपी शेरसिंह भूरिया, कन्नौद तहसीलदार कुलदीप पाराशर, खातेगांव सीएमओ प्भलाल पाटीदार, जनपद सीईओ मनीषा चतुर्वेदी सहित खातेगांव और नेमावर पुलिस बल मौके पर पहुंचा था।

बच्चा बोला, मुझे बाहर निकालो...

- मौके पर पहुंचे विधायक ने रेस्क्यू टीम को तत्काल काम पर लगने को कहा। टीम ने आॅक्सीजन नली बोर में डालने के साथ ही यह भी जांचा कि बच्चा बोरिंग में कितनी दूरी पर फंसा है। 40 फीट गहरे बोर में बच्चा 27 फीट नीचे फंसा हुआ है। इसके बाद विधायक ने बच्चे से बात की तो उसने जल्दी बाहर निकालने की गुहार लगाई।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments

Real Time Analytics