News

अमेरिका: शूटिंग की बढ़ती घटनाओं के बावजूद कंपनी ने बनाई स्मार्टफोन जैसी दिखने वाली बंदूक, आईफोन से आधी है कीमत



अमेरिकी कंपनी आइडियल कंसील ने बंदूक की कीमत आईफोन से आधी यानी सिर्फ 500 डॉलर रखी है।बंदूक को आसानी से लोग अपनी जेब में भी रख सकेंगे।कंपनी को बंदूक की लॉन्चिंग से पहले ही 12 हजार ऑर्डर मिल चुके हैं।वॉशिंगटन.अमेरिका के मिनेसोटा की एक कंपनी ने स्मार्टफोन जैसी दिखने वाली बंदूकों का उत्पादन शुरू किया है। पूरे देश में लगातार बढ़ती शूटिंग की घटनाओं के बीच कंपनी का ये कदम विवादों के घेरे में है। 2016 में पदार्पण टलने के बाद ‘आइडियन कंसील’ नाम की कंपनी को इस साल पहले चरण में करीब 12 हजार बंदूकों का ऑर्डर मिला है। जानकारी के मुताबिक, अमेरिका में आम लोगों के बीच इस बंदूक का डिजाइन इतना पसंद किया जा रहा है कि जल्द ही कंपनी को इसका उत्पादन दुगना करना पड़ सकता है।स्मार्टफोन जैसी दिखने वाली इस बंदूक को आईफोन गन भी कहा जा रहा है। हालांकि, इसकी कीमत असल आईफोन एक्स (1 हजार डॉलर) के मुकाबले सिर्फ आधी यानी 500

डॉलर्स (करीब 34 हजार रुपए) है। अमेरिका की विवादास्पद गैर लाभकारी संस्था ‘नेशनल राइफल एसोसिएशन भी इस स्मार्टफोन गन का प्रमोशन कर रही है। संस्था ने मई के अपने मैगजीन एडिशन में इसे फीचर्ड प्रोडक्ट



की जगह दी है। साथ ही आत्मरक्षा के लिहाज से भी इसे पिस्तौल और रिवॉल्वर का बेहतरीन विकल्प बताया गया है।एक बार में फायर कर सकती हैं दो गोलियां: बंदूक को एक छोटी फोल्डिंग हैंडगन की तरह बनाया गया है, जिसके नली को आसानी से फोल्ड किया जा सकता है। साथ ही इसकी मैगजीन को भी वर्गाकार में मोड़ा जा सकता है। जिससे ये एक स्मार्टफोन का रूप ले लेती है। लोग इसे आसानी से जेब में भी रख सकते हैं और किसी को इसके बंदूक होने का शक नहीं होता। बंदूक खुलते ही एक बार में .380 कैलिबर की दो गोलियां फायर कर सकती है। बेहतर निशाने के लिए इसे लेजर के साथ भी इस्तेमाल किया जा सकता है।अमेरिका में 66% लोगों

के पास एक से ज्यादा गन: - दुनियाभर की कुल जितनी सिविल बंदूकें हैं, उनमें से 48% (करीब 31 करोड़) सिर्फ अमेरिकियों के पास हैं। इतना ही नहीं अमेरिका के करीब 89% लोग अपने पास हथियार रखते हैं। 66% लोगों के पास एक से ज्यादा बंदूक हैं। इसके चलते अमेरिका में हथियार बनाने वाली इंडस्ट्री का सालाना रेवेन्यू 91 हजार करोड़ रुपए है। 2.65 लाख लोग इस कारोबार से जुड़े हुए हैं। अमेरिकी इकोनॉमी में हथियार की बिक्री सें 90 हजार करोड़ रुपए आते हैं। हर साल एक करोड़ से ज्यादा रिवॉल्वर, पिस्टल जैसे हथियार बनते हैं।50 साल में 15 लाख लोगों की जान हथियारों ने ली- बीते 50 साल में अमेरिका में हथियारों ने 15 लाख से ज्यादा जान ले लीं। इसमें मास शूटिंग और मर्डर से जुड़ीं 5 लाख मौतें हुईं। बाकी जानें सुसाइड, गलती से चली गोली और कानूनी कार्रवाई में गई हैं अमेरिका में हथियार रखना बुनियादी हकों में आता है।(आंकड़े - सीएनएन,

सीडीसी, आईबीआईएस)





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments