Sports

बेटा है क्रिकेट की दुनिया का महान गेंदबाज, पिता सड़कों पर बेचता है बिस्किट, जानें आखिर क्या है वजह



बेटा है क्रिकेट की दुनिया का महान गेंदबाज, पिता सड़कों पर बेचता है बिस्किट, जानें आखिर क्या है वजह एक महान गेंदबाज के पिता होते हुए भी यह इंसान सड़कों पर खुद बिस्किट बेचकर अपना गुजारा करता है। इन्हें सिम्पल लाइफ जीना पसंद है। नई दिल्ली। दुनिया में कई तरह के लोग रहते हैं। कुछ लोग हमेशा नाम और यश कमाने की फिराक में रहते हैं जबकि कुछ लोगों को

ऐसा करना पसंद नहीं है। सबकुछ होते हुए भी इस तरह के लोग सीधी-सादी जिंदगी को जीने में यकीन रखते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी सादगी आपको छू जाएगी। एक महान गेंदबाज के पिता होते हुए भी यह इंसान सड़कों पर खुद बिस्किट बेचकर अपना गुजारा करता है। हम यहां बात कर रहे हैं मुथैया मुरलीधरन के बारे में जो क्रिकेट

की दुनिया में एक बेहतरीन गेंदबाज के रूप में जाने जाते हैं।मुरलीधरन के पिता का नाम सिन्ना स्वामी है। सिन्ना स्वामी को अपने काम से बेहद लगाव है। बेटे के पास करोड़ों की सम्पत्ति होने के बावजूद (मुरलीधरन के पिता सिन्ना स्वामी) एक छोटी



सी फैक्ट्री चलाते हैं। यहां उन्होंने कुछ लोगों को अपने यहां काम पर भी रखा है। उन्होंने बिस्किट बेचने के दौरान कभी भी अपने बेटे के नाम

का इस्तेमाल नहीं किया।बता दें, श्रीलंका के एक अखबार को दिए गए अपने एक इंटरव्यू में सिन्ना स्वामी ने कहा था कि उन्होंने अपने काम के दौरान कभी भी मुरलीधरन के नाम का इस्तेमाल नहीं किया। वह चाहें तो ऐसा करके अपने बिजनेस में ज्यादा मुनाफा कर सकते हैं, लेकिन वह ऐसा नहीं करना चाहते हैं। सिन्ना स्वामी का यह भी कहना है कि वह अपने फायदे के लिए अपने बेटे का

नुकसान नहीं करना चाहते हैं।ऐसा उन्होंने इसलिए कहा क्योंकि मुरलीधरन स्वयं श्रीलंका के एक बड़े बिस्कुट के ब्रांड को एन्डोर्स करते हैं। सिन्ना स्वामी नहीं चाहते कि मुरलीधरन को इनसे होने वाली कमाई बंद हो जाए। बेटे के पास करोड़ों की सम्पत्ति होने के बावजूद आज भी सिन्ना स्वामी को श्रीलंका की सड़कों पर, रेलवे स्टेशन पर बिस्किट बेचते हुए देखा जा सकता है। भले ही उनका बेटा एक सेलेब्रिटी हो लेकिन

उन्हें सिम्पल लाइफ जीना पसंद है।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments