News

एनकाउंटर के दौरान ऑपरेशन के दौरान गैंग ने दी थी पुलिस को बम से उड़ाने की धमकी, लेकिन नहीं हो सके मनसूबे में कामयाब



एनकाउंटर के दौरान ऑपरेशन के दौरान गैंग ने दी थी पुलिस को बम से उड़ाने की धमकी, लेकिन नहीं हो सके मनसूबे में कामयाब
ग्रामाणों की वेशषूभा में एके 47 लिए पुलिसकर्मी।
एनकाउंटर के दौरान ऑपरेशन के दौरान गैंग ने दी थी पुलिस को बम से उड़ाने की धमकी, लेकिन नहीं हो सके मनसूबे में कामयाब
गाड़ी में पड़ी हुई बदमाशों की लाश।

  • मुखबीर ने दी थी गैंगस्टर के फार्म हाउस पर आने की सूचना
  • ऑपरेशन में शामिल स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर प्रभात ने दिया बयान

नई दिल्ली.राजेश भारती गैंग से हुए शूटआउट के दौरान एंडेवर कार सवार बदमाशों ने पुलिस को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। बदमाश कार के अंदर से ही फायरिंग करते रहे। जवाब में पुलिस भी फायरिंग करती रही। रुक-रुककर 20 मिनट तक यह सिलसिला चलता रहा। फायरिंग में 6 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। उन्हें शूटआउट के दौरान ही कार से अस्पताल भिजवाया गया। फायरिंग थमने के बाद पुलिस उनकी कार के पास पहुंची तो बदमाश कपिल जख्मी हालत में मिला। उसे एम्स ट्रॉमा


सेंटर भेजा गया।

यह खुलासा स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर प्रभात कुमार ने फतेहपुर बेरी पुलिस को दिए बयान में किया है। 9 जून को दर्ज केस के मुताबिक, इंस्पेक्टर प्रभात और पंकज कुमार राजेश और संजीत विद्रोही की जानकारी जुटाने में लगे थे। एसआई कृष्ण कुमार समेत 8 पुलिसकर्मी महरौली और फतेहपुर बेरी इलाके के उस फार्म हाउस का पता लगाने में जुटे थे, जहां राजेश अक्सर आता था।

मुखबीर ने दी थी गैंगस्टर के फार्म हाउस पर आने की सूचना

8 जून की देर रात 3 बजे रोहिणी स्थित स्पेशल सेल के ऑफिस में पहुंचे मुखबीर ने बताया था कि राजेश 9 जून की दोपहर दोस्तों के साथ लाडो सराय के खरक गांव में रहने वाले संजीत के फार्म हाउस एसएनएस विला-45 पर आएगा। इनपुट की पुलिस ने डीडी एंट्री की। ऑपरेशन को शुरू करने से पहले दो इंस्पेक्टर की देखरेख में 38 पुलिसकर्मियों को ब्रीफिंग की गई। सभी को उनकी जिम्मेदारी बता दी गई। 9 जून को तड़के 5.30 बजे पुलिस की टीम तीन सरकारी कारों, 3 निजी वाहनों और दो बाइक के साथ ऑपरेशन के लिए निकल गई। बाइक पर 4 पुलिसकर्मी थे, जो रेकी करने के लिए ग्रामीणों की वेशभूषा में थे।

ऐसे बनाया प्लान... दोपहर 1.11 बजे खत्म हुआ ऑपरेशन

पुलिस ने ऑपरेशन में एके 47, एमपी 5 राइफल और 0.9 एमएम पिस्टल का इस्तेमाल किया। ऑपरेशन खत्म होने के बाद इंस्पेक्टर प्रभात कुमार ने अपने मोबाइल से दोपहर 1.11 बजे पीसीआर को कॉल कर सूचना दी और बम निरोधक दस्ते को भी जांच के लिए बुलावाया। इससे पहले ऑपरेशन शुरू होने से पूर्व पुलिस ने पांच-छह लोगों से रेडिंग टीम में शामिल होने का आग्रह किया था, लेकिन वे बहाना बनाकर वहां से चले गए। पुलिस ने रेफरेंस के लिए उनकी डिटेल नोट कर ली थी।

दोपहर 12 बजे कंफर्म हुआ कि गैंगस्टर फार्म हाउस में है

पुलिस सुबह 7 बजे छतरपुर इलाके में पहुंच गई। मुखबीर भी पुलिस के संपर्क रहा। दोपहर 12 बजे पूरी तरह साफ हो चुका था कि राजेश भारती गैंग के साथ फार्म हाउस के अंदर है। दोपहर पौने एक बजे वह एंडेवर कार से फार्म हाउस से निकला। उसके आगे आई-20 कार थी। दोनों कारों में बदमाशों के बैठे होने की बात कंफर्म होते ही पुलिस एक्शन मोड में आ गई। इसके बाद इंस्पेक्टर ने उनकी कारों को रुकने का इशारा किया और सरेंडर करने को कहा। खुद को घिरते देख दोनों कार में बैठे बदमाश पुलिस पर फायरिंग करने लगे। जवाब में पुलिस ने भी गोलियां बरसाईं।

सोमवार को भी नहीं हो सका शवों का पोस्टमार्टम

उधर, एलजी अनिल बैजल, सीपी अमूल्य पटनायक और डीसीपी प्रमोह सिंह कुशवाहा इस ऑपरेशन में घायल पुलिसकर्मियों का हाल जानने के लिए एम्स ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। एलजी और सीपी ने ऑपरेशन सफल होने के लिए घायल पुलिसकर्मियों को बधाई दी। उधर, मेडिकल बोर्ड का गठन नहीं होने से सोमवार को शवों का पोस्टमार्टम नहीं हो सका।

ये था पूरा मामला

दिल्ली पुलिस की स्पेशल 30 सेल ने शनिवार को एनकाउंटर में गैंगस्टर राजेश भारती और उसके गैंग के 3 सदस्यों को ढेर कर दिया। भारती दिल्ली पुलिस की 10 मोस्ट वांटेड बदमाशों की सूची में शामिल था। वह इसी साल फरवरी में हरियाणा पुलिस की हिरासत से भाग निकला था। यह एनकाउंटर छतरपुर इलाके में एक फार्म हाउस के पास हुआ। बदमाशों की ओर से करीब 50 और पुलिस की ओर से 100 राउंड फायरिंग हुई। गोलीबारी में राजेश कंडेला उर्फ भारती, संजीत विद्रोही, गुडगावं निवासी उमेश उर्फ डॉन व दिल्ली के घेवरा निवासी वीरेश राणा उर्फ विक्कू ढेर हो गए। वहीं उनके गैंग का जींद निवासी कपिल घायल हुआ। 6 पुलिसकर्मी भी गोली लगने से जख्मी हुए हैं।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments

Real Time Analytics