Spirituality

गुरु ग्रह ने तुला राशि में बदली चाल, मेष, मिथुन, कुंभ और तुला पर रहेगा सबसे ज्यादा प्रभाव, 11 अक्टूबर तक रहेगा असर



गुरु ग्रह ने तुला राशि में बदली चाल, मेष, मिथुन, कुंभ और तुला पर रहेगा सबसे ज्यादा प्रभाव, 11 अक्टूबर तक रहेगा असररिलिजन डेस्क. बुधवार, 11 जुलाई 2018 से गुरु तुला राशि में चाल बदलकर वक्री से मार्गी हो गया है और ये 11 अक्टूबर तक ऐसा ही रहेगा। मार्गी यानी अब गुरु ग्रह सीधी चाल चलेगा। इस समय गुरु की दृष्टि मेष, मिथुन और कुंभ पर पड़ रही है और तुला राशि में ये स्थित है। अत: इन चार राशियों पर गुरु का सबसे ज्यादा असर रहेगा। वहीं उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए गुरु के चाल बदलने से सभी 12 राशियों पर कैसा असर होने वाला है। ये राशि चंद्र राशि के आधार पर बताया जा रहा है।मेष- गुरु की पूर्ण दृष्टि प्राप्त हो रही है। गुरु सप्तम होने से लाभ की वृद्धि करेगा और सम्मान की वृद्धि होगी।- कार्य में तेजी आएगी। अटके धन की प्राप्ति होगी। नए संपर्क बनेंगे। समस्याओं का निदान होगा।वृषभ- षष्ठम गुरु सामान्य रहेगा। गुरु की वजह से कोई लाभ हानि होने के योग नहीं है।- रोगों में अवश्य आराम होगा और विरोध करने वाले बढ़ेंगे, लेकिन आपका कुछ बुरा नहीं हो पाएगा। मामा पक्ष से लाभ बढ़ेगा।



कार्य में तेजी रहेगी।मिथुन- पंचम गुरु मार्गी होने से नौकरी में आ रही परेशानी समाप्त होगी। संतान से सुख प्राप्त होगा।- बेरोजगारों को रोजगार प्राप्त होगा। भाग्य साथ देगा और आय में वृद्धि होगी। मन प्रसन्न रहेगा।कर्क- चतुर्थ गुरु माता और सुख में वृद्धि करेगा। आय कम होगी, लेकिन काम की अधिकता होगी।- अज्ञात भय बना रहेगा। परेशानी भरा समय रह सकता है। स्वयं पर भरोसा रखना होगा।सिंह- तृतीय गुरु भाइयों से सहयोग दिलवाएगा और पराक्रम श्रेष्ठ रहेगा। जीवन साथी अनुकूल रहेगा। विवाह योग्य लोगों को विवाह प्रस्ताव मिलेंगे।- भाग्य का साथ रहेगा। कोई बड़ी सफलता मिल सकती है। आय भी बढ़ेगी और नौकरी करने वालों का वेतन बढ़ेगा।कन्या- द्वितीय गुरु जमीन, मकान से लाभ दिलवाने वाला होगा। भय और चिंता रहेगी और कार्य की अधिकता रहेगी।- आय के मामले कमजोर रहेंगे। अनावश्यक मेहनत के काम करने पड़ सकते हैं। ससुराल पक्ष से लाभ होगा।तुला- गुरु का गोचर प्रसन्नता प्रदान करने वाला होगा। पत्नी से सुख प्राप्त होगा और प्रेेम में सफलता मिलेगी।- भाग्य अनुकूल रहेगा। कम काम में ज्यादा लाभ की स्थिति रहेगी। समय अच्छा रहेगा।वृश्चिक- द्वादश गुरु व्यय बढ़ा सकता है। सपंर्कों का लाभ नहीं मिल पा रहा है। कर्ज से परेशानी हो सकती है।- विरोधी सक्रिय रहेंगे और बीमारी होने के भी योग बन रहे हैं। मन स्थिर नहीं हो पाएगा।धनु- एकादश गुरु आय में वृद्धि करेगा एवं संतान से सुख प्राप्त होगा। नए कार्यों की प्राप्ति होगी।- भाइयों से सहयोग प्राप्त होगा। शुभ समाचार मिलेगा। यात्रा का योग है।मकर- दशम गुरु कार्य की अधिकता करेगा। माता से सुख प्राप्त होगा।- विदेश जाने वालों की इच्छा पूरी होगी। साथियों के सहयोग से कार्य समय पर पूरे होंगे।कुंभ- नवम गुरु और गुरु की दृष्टि से भाग्य अनुकूल रहेगा। कोई बड़ा काम हो सकता है।- वर्तमान समय प्रसन्नता का रहेगा। परिवार से सहयोग मिलेगा। यात्राएं सुखद रहेंगी और संतान से खुशी प्राप्त होगी।मीन- अष्टम गुरु के कारण तनाव रहेगा। भय और चिंता का वातावरण रहेगा। खर्च की अधिकता रहेगी।- जीवन में उलझनें बढ़ेंगी। जमीन से लाभ रहेगा। माता-पिता भी अनुकूल रहेंगे।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments