News

खुद बोल-सुन नहीं सकता और वीडियो कॉल से कर रहा परेशान



राज्य साइबर सेल ने मूक बधिर युवक को पकड़ा, गंदे वीडियो व मैसेज भेजता था इंदौर. मूक बधिर युवतियों को वीडियो कॉल कर युवक नग्न होकर परेशान करता। उन्हें वाट्सऐप पर भी गंदे मैसेज करता रहा। परेशान युवतियों ने पुलिस के मूक बधिर केंद्र से मदद मांगी। केंद्र की मदद से साइबर सेल में शिकायत की गई। विशेषज्ञों ने युवतियों की बातें इशारे में समझकर कर अफसरों को बताई फिर आरोपित पकड़ में आया। एसपी राज्य साइबर सेल जितेंद्र सिंह ने बताया कि टीम ने महाराष्ट्र में अहमद नगर निवासी अमोल गायकवाड़ (27) को पकड़ा है। वह अहमद नगर में एक होटल में काम करता है। अमोल मूक बधिर है। कुछ दिन पहले दो मूक बधिर युवतियों की शिकायत प्राप्त हुई थी। उन्हें वाट्सऐप पर एक युवक गंदे मैसेज भेज रहा था। वाट्सऐप व इमू एप के जरिए वह युवतियों को वीडियो कॉल करता। मुंह पर कपड़ा बांध रखता फिर युवतियों के सामने वह कपड़े निकाल देता। युवतियों वीडियो कॉल बंद कर देती तो लगातार वह फिर से कॉल करता रहता। मई व जून में ये चीजे काफी बढ़ गई। युवतियां जब नंबर को ब्लॉक करती तो नए नंबर से मैसेज व वीडियो कॉल आने लग जाते।



साइबर सेल ने जब दोनो मामलो की जांच की तो पता चला कि परेशान करने वाला अमोल ही है। पुलिस ने दोनो युवतियों की शिकायत पर अमोल के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत दो केस दर्ज किए। टीआई मधुरवीणा, एसआई पूजा मुवेल, रीना चौहान, आमोद सिंह, हैड कांस्टेबल रामप्रकाश वाजपेई, प्रभाकर महाजन की टीम ने अहमद नगर से अमोल को गिरफ्तार किया।इशारों में बताई परेशानी युवतियों ने तुकोगंज थाने स्थित मूक बधिर केंद्र पर ज्ञानेंद्र पुरोहित व मोनिका पुरोहित को शिकायत की। उन्हें लेकर दंपत्ति साइबर सेल पहुंचे। युवतियों की परेशानी दंपत्ति ने इशारे में साइबर सेल अफसरों को बताई। अमोल को पकड़ा तो वह भी मूक बधिर निकला। स्थानीय विशेषज्ञ की मदद से पुलिस ने उससे पूछताछ की फिर इंदौर लाए। यहां पर उससे पूछताछ करने में मूक बधिर केंद्र के दंपत्ति की मदद ली गई। अमोल ने पुलिस को गुमराह करने की काफी कोशिश की। पहले मोबाइल के लिए वह अपने गांव ले गया बाद में अहमद नगर में किराए के घर में मोबाइल व सिम मिली। उसके पास से दो मोबाइल व दो सिम बरामद हुई। दोनो सिम फर्जी नाम से ली गई। सिम बांद्रा स्टेशन पर मिलने की बात वह कह रहा है। उसके मोबाइल में 3-4 और लड़कियों को मैसेज करने की जानकारी मिली। मूक बधिर लोगो के वाट्सऐप व फेसबुक पर बने गु्रप से वह प्रोफाइल फोटो देखकर युवतियों के नंबर निकालता। फिर उन्हें परेशान करे लगता। अमोल ने १० वी तक पढ़ाई की है। पिता किसान है। अममद नगर के पास ग्राम उक्कड़ में उसका घर है। For more stories download the "Patrika App”





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments