Politics

PM मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माण यूनिट का उद्घाटन, 70 हजार लोग करेंगे काम



PM मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माण यूनिट का उद्घाटन, 70 हजार लोग करेंगे काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नोएडा सेक्टर 81 में सैमसंग की स्मार्टफोन बनाने वाली नई यूनिट का उद्घाटन किया। इस यूनिट के बाद सैमसंग की यह फैक्टरी दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली फैक्टरी बन गई है। नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नोएडा सेक्टर 81 में सैमसंग की स्मार्टफोन बनाने वाली नई यूनिट का उद्घाटन किया। इस यूनिट के बाद सैमसंग की यह फैक्टरी दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली फैक्टरी बन गई है। 35 एकड़ में फैली इस फैक्टरी में 70हजार लोग काम करेंगे। इस फैक्टरी में रोजाना करीब 12 करोड़ स्मार्टफोन का निर्माण होगा। अभी यहां करीब 6.7 करोड़ स्मार्टफोन बन रहे हैं। इस फैक्टरी के शुरू होने के बाद सैमसंग यहां से करीब आधी दुनिया में स्मार्टफोन का निर्यात करेगी। उद्घाटन समारोह में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा समेत प्रदेश के कई मंत्री और विधायक मौजूद रहे। मेट्रो से किया सफर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन दिल्ली से नोएडा तक



का सफर दिल्ली मेट्रो से किया। दिल्ली मेट्रो के अनुसार दोनों नेता शाम चार बजकर 36 मिनट पर ब्लू लाइन के मंडी हाउस स्टेशन से मेट्रो में सवार हुए और पांच बजकर दो मिनट पर नोएडा बॉटेनिकल गार्डन स्टेशन पर उतरे। उन्होंने टोकन खरीदकर आम लोगों के साथ यात्रा की। मोदी के मेट्रो में यात्रा करने से ब्लू लाइन की सेवा में किसी तरह की देरी नहीं हुई। मून के साथ मेट्रो यात्रा की पीएम मोदी ने ट्वीट कर भी जानकारी दी। अपने इस सफर के दौरान दोनों नेताओं ने विभिन्न स्टेशनों पर खडे यात्रियों का अभिवादन स्वीकार किया। 8 देशों के साथ होगी डील जानकारी के अनुसार नई यूनिट के शुरू होने के बाद सैमसंग नोएडा से दुनिया के 8 देशों के साथ कारोबार करेगी। कंपनी अपनी कुल प्रोडक्शन का 50 फीसदी हिस्सा भारत में करने की तैयारी कर रही है। दक्षिण कोरिया की कंपनी सैमसंग जिन आठ देशों के साथ व्यापार करने की योजना बना रही है वो सार्क देश हैं। कंपनी का मानना है कि वैसे तो सार्क देशों के साथ उनका व्यापार है। लेकिन भारत में रहकर इन देशों के साथ व्यापार आैर भी ज्यादा बढ़ाया जा सकता है। जिसके लिए यह फैक्ट्री काफी कारगर साबित होगी। आपको बता दें कि सार्क देशों में बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका आैर अफगानिस्तान शामिल हैं। कंपनी का मानना है कि नई यूनिट के माध्यम से इन देशों में निर्यात करने में आसानी होगी।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments