News

पुलिस मुठभेड़ में तीन लाख का इनामी नक्सल कमांडर जग्गू ढेर, सरपंच हत्याकांड का मुख्य आरोपी था



पुलिस मुठभेड़ में तीन लाख का इनामी नक्सल कमांडर जग्गू ढेर, सरपंच हत्याकांड का मुख्य आरोपी थासुकमा में हुई पुलिस मुठभेड़ में मारा गया नक्सली कमांडर जग्गू।नक्सली कमांडर से बरामद हथियार व अन्य सामाननक्सली कमांडर से बरामद हथियारसुकमा।छत्तीसगढ़ के सुकमा में शनिवार देर शाम हुई मुठभेड़ में पुलिस ने नक्सली कमांडर जग्गू को मार गिराया। जग्गू पर तीन लाख रुपये का इनाम था। पुलिस का दावा है कि बडे़ सेट्टी सरपंच के हत्याकांड में जग्गू मुख्य आरोपी था। पुलिस ने मौके से हथियार और नक्सली साहित्य बरामद किए हैं।- जानकारी के मुताबिक, जिले की डीआरजी टीम को बड़ी सफलता मिली है। फूल बगड़ी थाना क्षेत्र में मुलेर के गंधारपारा इलाके में शनिवार देर शाम हुई मुठभेड़ में पुलिस ने नक्सली कमांडर जग्गू को मार गिराया। डीआरजी टीम उस समय शाम को सर्चिंग पर थी।- डीआरजी की टीम को मुठभेड़ स्थल से 315 बोर हथियार समेत नक्सली साहित्य और सामग्री बरामद हुई है।सुकमा पुलिस का दावा है कि जग्गू बडे़ सेट्टी सरपंच हत्याकांड में प्रमुख आरोपी था, और दर्जन

भर से ज्यादा मामले उस पर दर्ज थे।आठ अप्रैल को हुई थी सरपंच की हत्या- छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा 8 अप्रैल को अज्ञात लोगों ने



बाहरी इलाके सोढ़ी पारा में बड़े सेट्टी गांव के सरपंच कलमु हुंगा (35) की धारदार हथियार से काट कर हत्या कर दी थी। पुलिस दल ने शव के करीब से एक पर्चा भी बरामद किया। जिससे पता चला कि नक्सलियों ने वारदात की थी।- पुलिस ने इस मामले में कुछ दिनों बाद वारदात में शामिल पंचायत सचिव का नाबालिग पुत्र को गिरफ्तार किया था। इससे पहले नक्सलियों को सुपारी देकर अपने ही पंचायत के सरपंच की हत्या कराने के मामले में वारदात के तीसरे दिन पुलिस ने निलंबित पंचायत सचिव को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।- सचिव की जिस निजी स्कॉर्पियो वाहन में सवार होकर नक्सली सुकमा पहुंचे थे उसे सचिव का नाबालिग बेटा चला रहा था। सचिव के नाबालिग पुत्र को दो दिन पहले ही पुलिस ने अपनी हिरासत में लिया था। पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया गया।इसलिए करवाई

थी नक्सलियों से सरपंच की हत्या- एसपी अभिषेक मीणा ने बताया था कि सचिव नक्सलियों को आर्थिक रूप से मदद पहुंचाने का काम करता था। इसलिए माओवादियों के बीच उसकी पकड़ काफी मजबूत थी। बडे़ सेट्टी पंचायत के सरपंच कलमू हुंगा को गुमराह कर बीते साल चार माह में ही पंचायत के खाते से सचिव ने 14 लाख रुपए से ज्यादा का आहरण किया।- सचिव आहरण राशि का बड़ा हिस्सा सिंघनपारा निवासी संघम सदस्य जग्गू की मदद से नक्सली कमांडर भीमे तक पहुंचाता था। सरपंच को सचिव की करतूत का पता चलने के बाद से दोनों के बीच काफी दिनों से अनबन चल रहा था।- मार्च माह में ग्रामीणों ने कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य से मुलाकात कर सचिव द्वारा पंचायत की योजनाओं में अनियमितता बरतने एवं शासकीय राशि का दुरुपयोग करने की शिकायत की थी। जिसके बाद जिला प्रशासन ने सचिव को निलंबित कर दिया। निलंबन से नाराज व परेशान सचिव ने नक्सलियों के साथ मिलकर सरपंच की हत्या की योजना बनाई और नक्सलियों को पैसे देकर सरपंच

की हत्या करा दी।





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments