Politics

सिद्धारमैया ने क्‍यों कहा, आयकर छापे के बहाने दुश्‍मनी निकाल रही है मोदी सरकार



केंद्र सरकार चुनाव के दौरान आयकर छापे लगवाकर कांग्रेस प्रत्‍याशियों को डराने पर उतारू है। नई दिल्‍ली। एक तरफ कर्नाटक में चुनाव प्रचार चरम पर है तो दूसरी तरफ आयकर के मामले में चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्‍याशियों के ठिकानों पर छापेमारी जारी है। इस कार्रवाई को सीएम सिद्धारमैया ने चुनाव के ऐन मौके पर आयकर विभाग के जरिए कांग्रेस प्रत्‍याशियों को डराने का गैर कानूनी तरीका करार दिया है। उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी की सरकार इसकी आड़ में दुश्‍मनी निकालने पर उतारू है। उन्‍होंने कहा कि मैं 12वीं बार चुनाव लड़ रहा हूं। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि प्रत्‍याशियों के खलाफ चुनाव के दौरान आयकर के छापे पड़े हों। हकीकत यह है कि केंद्र सरकार सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने पर उतारू है। उन्‍होंने कहा कि इसका जवाब भाजपा के खिलाफ मतदान कर प्रदेश की जनता देगी। यह पहली बार है जब आयकर विभाग को कर्नाटक चुनाव में घसीटा गया है। पीएम मोदी की विदेश यात्राओं का होगा हिसाब! सूचना आयोग ने से मांगी अहम जानकारी सिर्फ कांग्रेस नेताओं के घर छापे क्‍यों ?सिद्धारमैया ने सवाल पीएम मोदी से सवाल किया है कि हम आयकर विभाग के खिलाफ नहीं हैं। बेहिसाब संपत्ति रखने वालों



के यहां छापे मारने के लिए वह स्वतंत्र है। लेकिन वे सिर्फ कांग्रेस नेताओं के यहां छापे मार रहे हैं। उनका सलेक्टिव अप्रोच बताता है कि वे केवल हमारे पीछे पड़े हैं। वे भाजपा नेताओं के यहां छापे क्यों नहीं मार रहे हैं? क्या भाजपा के सभी लोग हरीश्चंद्र हैं? दोषी के खिलाफ कार्रवाई करे चुनाव आयोग इसी तरह उन्‍होंने बेंगलूरु के जलहल्‍ली क्षेत्र में एसएलवी पार्क न्‍यू अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 115 से 9,746 मतदाता पहचान पत्रों की बरामदगी को भाजपा का नाटक करार दिया है। उन्‍होंने कहा कि इस मामले में भाजपा के आरोप पूरी तरह से गलत तथ्‍यों पर आधारित है। हकीकत यह है कि इस मामले में दोषी भाजपा का ही एक कारपोरेटर है। लेकिन कांग्रेस को बदनाम करने के लिए भाजपा नेताओं ने यह षडयंत्र रचा है। चुनाव आयोग को चाहिए कि इस मामले की गंभीरता से जांच दोषी के खिलाफ कार्रवाई करे। कर्नाटक चुनाव : शिमोगा में इस बार टेढ़ा है चुनावी गणित, कांटे की टक्कर कांग्रेस प्रत्‍याशियों के ठिकानों पर छापे हाल ही में कर्नाटक में सिरसी-सिद्धपुरा से कांग्रेस के उम्मीदवार भीमन्ना नायक के घर आईटी अधिकारियों ने छापे मारे। लगातार हो रही छापेमारी की कार्रवाई को लेकर सत्ताधारी कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि चुनाव से पहले कांग्रेस नेताओं को परेशान करने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार आयकर विभाग का इस्तेमाल कर रही है। आयकर विभाग इससे पहले केपीसीसी कैम्पेन कमिटी अध्यक्ष और ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के घर और अन्य संपत्तियों पर छापे मार चुकी है। इसका कांग्रेस ने खासा विरोध किया था। शिवकुमार के खिलाफ ईडी ने भी कई मामले दर्ज किए हैं। पीडब्‍लूडी मंत्री एचसी महादेवप्पा, बीडीए मंत्री केजे जॉर्ज, विधायक एमटीबी नागराज, विधायक शामानुर शिवशंकरप्पा और उनके एमएलए बेटे एसएस मल्लिकार्जुन और अन्य के यहां भी इनकम टैक्स विभाग के छापे पड़े हैं। एक सप्ताह पहले आयकर विभान ने पीडब्‍लूडी के कुछ कॉन्ट्रैक्टरों के यहां भी छापेमारी की थी। इन छापों में करीब 7 करोड़ रुपये कैश बरामद किए थे।  





RECENT POSTS

POPULAR POSTS

HOT POSTS

Related Post

Leave a Response

You need to Login to post comment

Comments